Friday, 5 March, 2010

Romance

"At the touch of love, one becomes a poet."
 





आप  की  नज़रों  ने  समझा  प्यार  के  काबिल  मुझे 
दिल  की  ऐ  धड़कन  ठहर  जा , मिल  गयी  मंजिल  मुझे 
आप  की  नज़रों  ने  समझा 
जी  हमें  मंज़ूर  है  आप  का  यह  फैसला  - 2
कह  रही  है  हर  नज़र  बंद  परवर  शुक्रिया 
हंसके  अपनी  ज़िन्दगी  में  कर  लिया  शामिल  मुझे 
दिल  की  ऐ  धड़कन  ठहर  जा , मिल  गयी  मंजिल  मुझे 
आप  की  नज़रों  ने  समझा 
आप  की  मंजिल  हूँ  मैं , मेरी  मंजिल  आप  है  - 2
क्यूं  मैं  तूफ़ान  से  दर्रून , मेरा  साहिल  आप  है 
कोई  तूफानों  से  कह  दे , मिल  गया  साहिल  मुझे 
दिल  की  ऐ  धड़कन  ठहर  जा , मिल  गयी  मंजिल  मुझे 
आप  की  नज़रों  ने  समझा 
पद  गयी  दिल  पर  मेरे  आप  की  परछाइयां  - 2
हर  तरफ  बजने  लगी  सैंकड़ों  शेह्नाइयां 
दो  जहां  की  आज  खुशियाँ  हो  गयी  हासिल  मुझे 
आप  की  नज़रों  ने  समझा  प्यार  के  काबिल  मुझे 
दिल  की  ऐ  धड़कन  ठहर  जा , मिल  गयी  मंजिल  मुझे 
आप  की  नज़रों  ने  समझा 


(FROM THE MOVIE ANPADH)

6 comments:

  1. ചിത്രങ്ങളെല്ലാം കണ്ടു.
    നന്നായിരിക്കുന്നു...
    എല്ലാം പെന്‍സില്‍ ഉപയൊകിച്ചാണൊ വരച്ചത്..?
    എല്ലാവിധ ആസംസകളും....

    ReplyDelete
  2. athe sir...ellam pencil upayogichu varachathanu...
    orupaadu nanni...

    ReplyDelete
  3. the queen of pencil art. beautiful creation. congrats

    ReplyDelete
  4. thanks for the complement sir..

    ReplyDelete
  5. I think this is yor field than other formats of paintings... (a follower of Seena)

    ReplyDelete
  6. thanks PD.... but i dont want to stay in between the four walls of pencil drawing alone..love to explore more and more in the art field.Practice makes human perfect..iam a beginner now.

    ReplyDelete